Khatarnak jokes new joke 2020

Online9help

Khatarnak jokes new joke 2020

New jokes 2020 is article mein aapko bahut sare jokes padhne ko milenge .

कोई बोला, "इसके मुंह पर पानी के छींटे मारो।"

"इसे ब्रांडी दो।" बुढिया फिर बोली।

"इसे पंखा करो।" कोई बोला।

"इसे ब्रांडी दो।" बुढिया बोली।

"इसे अस्पताल ले जाओ।" किसी ने कहा।

"इसे ब्रांडी दो।" बुढिया फिर बोली।

तभी बेहोश पड़ा आदमी उठकर बैठ गया और जोर से चिल्लाया, "आप सब लोग अपनी बकवास बंद कीजिये और उस बेचारी बुढिया की भी कोई सुन लो।"

2.एक साहब सुबह ऑफिस जाने के लिए बस में सवार हुए तो कंडक्टर ने सवाल किया, "रात ठीक-ठाक घर पहुंच गए थे?"

3.आदमी ने बड़ी हैरानी से कंडक्टर की तरफ देखा और पूछा, "क्यों, मुझे क्या हुआ था रात को?"

कंडक्टर ने जवाब दिया, "कल रात आप शराब पीकर टुन्न थे ना इसलिए।"

आदमी: तुम्हें कैसे पता चला? मैंने तो तुम से बात तक नहीं की थी।

कंडक्टर: आप जब बस में बैठे हुए थे तो एक मैडम बस में चढ़ी थीं, जिन्हें आपने उठकर अपनी सीट ऑफर की थी।

आदमी: तो इसमें मैंने क्या गलत किया?

कंडक्टर: अरे उस समय बस में केवल आप दो ही पैसेन्जर थे साहब।

एक बदसूरत काला सा आदमी जुकाम की शिकायत लेकर डाक्टर के पास गया। डाक्टर ने उसे सरसरी निगाह से देखकर कहा कि वो अपने कपडे उतार दे और दोनों हाथों को जमीन पर टिका दे।

आदमी हैरान परेशान हो गया पर उसने वैसा ही किया जैसा कि डॉक्टर ने उसे करने के लिए कहा।

डाक्टर: ठीक है, अब जानवरों की तरह चलिए, और कमरे के दायें कोने में जाएं।

आदमी ने यही किया।

डाक्टर: ठीक अब बाएँ कोने में जाएं।

आदमी उधर चला गया।

डॉक्टर: अब इस कोने में, अब उस कोने में, अब सामने, अब बीच में।

आदमी घबरा के उठ खड़ा हुआ और बोला, "डाक्टर साहब, कोई गंभीर बीमारी तो नहीं हो गयी मुझे?"

डॉक्टर: अरे नहीं, मामूली जुकाम है, ये दो गोली लो सुबह तक ठीक हो जाओगे।

आदमी: पर डॉक्टर साहब आपने ये मेरा एक घंटे तक इस तरह परीक्षण क्यों किया?

डॉक्टर: कुछ नहीं यार, बात यह है कि मैंने एक काले रंग का सोफा ख़रीदा है, मैं देखना चाहता था इस कमरे में वो किस जगह ठीक दिखेगा।



4.दारू एकम दारू - महफिल हुइ चालू

दारू दुनी गिलास - मजा आयेगा खास

दारू तिया वाईन - टेस्ट एकदम फाईन

दारू चौके बियर - डालो नेक्स्ट गियर

दारू पंजे रम - भूल जाओ गम

दारू छक्के ब्रांडी - खाओ चिकन हाँडी

दारू सत्ते व्हिस्की - काॅकटेल है रिस्की

दारू अठ्ठे बेवडा - लाओ सेव चिवडा

दारू नम्मे खंबा - ज्यादा हो गइ, थांबा

दारू दहाम चस्का - नेक्स्ट पार्टी किसका?

5.शराब का हमारी अर्थव्यवस्था में बडा महत्व है, क्योंकि शराबी एक मॉडल टैक्सपेयर होता है। किसी भी आइटम पर टैक्स लगाया जाये, उसे देने वाला बवाल मचा देता है। पैट्रोल पर एक डेढ़ रुपया बढ़ जाऐ, मार ड्रामा शुरु हो जाता है। बीएमडब्ल्यु वाला भी हुड़की लगाकर चैनलों को बयान देने लगता है कि हम मर गये, लुट गये, तबाह हो गये।

पर शराब का खरीदार अत्यँत शालीन होता है। औसतन हर साल शराब के भाव 15-20 परसेंट तो बढ़ते ही है, दिखा दे मुझे कोई कि कभी किसी शराबी ने चिक-चिक मचायी हो। इतिहास में एक भी जुलूस ऐसा नहीं दर्ज है, जिसमें शराब के खरीदारों ने डीएम को जुलूस निकालकर ज्ञापन दिया हो कि प्लीज दारु सस्ती कर दो। ऐसे उद्विग्न समय में शराबी का सा संयम सराहनीय है, ये इतनी दुर्लभ क्वालिटि है कि सिर्फ शराबियों में ही पायी जाती है।

प्रदेश में शराब का कारोबार करीब 14,000 करोड़ रुपये का टर्नओवर दिखा रहा है, करीब 17,000 दुकानें हैं, सभी पर अनवरत लाईन लगी हुई है, कई की जालीदार खिडकियाँ तो सुबह ब्रह्मकाल मे ही खडका दी जाती है।

इसलिऐ लोगो को अनुशासन, शालीनता और संयम का पाठ अगर लेना हो तो किसी शराबी से ले।

6.सेवा में,
कलेक्टर महोदय।

विषय- शराब के रेट कम करने के लिए आवेदन।

श्रीमान जी,

निवेदन यह है की हम सब शराब दुकान के नियमित उपभोक्ता है। इन दिनो शराब के मूल्य काफी अधिक बढ़ चुके हैं जिससे हमारी आर्थिक स्थिति काफी गड़बड़ा गई है। नियमित दारू न पीने के कारण हमारे जीवन में मानसिक एवम शारीरिक असुविधायें हो रही है। जिससे आज कल कार्यालय के कार्यो पर भी इसका प्रभाव पड़ रहा है। चूंकि अधिक मूल्य पर दारू पीने से परिवार के भरण पोषण में परेशानिया आ रही है। यही नहीं दारु के अकारण ही दाम बढ़ने के सामाजिक परिणाम भी देखें जा रहे है। जैसे कि देश भर ख़ास कर दिल्ली, पंजाब, हरियाणा के इलाको में अंग्रेजी बोलने वालो की संख्या में भारी कमी आई है। साथ ही दारु के मूल्य बढ़ने के पश्चात् शादी इत्यादि में नाचने वालो की संख्या भी काफी कमी आई है।

अतः आप महोदय से निवेदन है की शराब दुकानदार को शीघ्र निर्देशित कर शराब के मूल्य कम कराये जाये जिससे हम उपभोक्ताओ को राहत मिले।

भवदीय
महा दारू बाज़
एवं
समस्त सम्मानीय पियक्कड़ गण।

7.90 वर्षीय एक सज्जन की दस करोड़ की लाटरी लग गई। इतनी बड़ी खबर सुनकर कहीं दादाजी खुशी से मर न जाएं, यह सोचकर उनके घरवालों ने उन्हें तुरंत जानकारी नहीं दी। सबने तय किया कि पहले एक डॉक्टर को बुलवाया जाए फिर उसकी मौजूदगी में उन्हें यह समाचार दिया जाए ताकि दिल का दौरा पड़ने की हालत में वह स्थिति को संभाल सके।

शहर के जानेमाने दिल के डॉक्टर से संपर्क किया गया।

डॉक्टर साहब ने घरवालों को आश्वस्त किया और कहा, "आप लोग चिंता ना करें, दादाजी को यह समाचार मैं खुद दूंगा और उन्हें कुछ नहीं होगा, यह मेरी गारंटी है।"

डॉक्टर साहब दादाजी के पास गए कुछ देर इधर उधर की बातें कीं फिर बोले, "दादाजी, मैं आपको एक शुभ समाचार देना चाहता हूं। आपके नाम दस करोड़ की लाटरी निकली हैं।"

दादाजी बोले, "अच्छा! लेकिन मैं इस उम्र में इतने पैसों का क्या करूंगा पर अब तूने यह खबर सुनाई है तो जा, आधी रकम मैंने तुझे दी।"

यह सुन डॉक्टर साहब धम् से जमीन पर गिरे और उनके प्राण पखेरू उड़ गए।

0 Response to "Khatarnak jokes new joke 2020"

Post a Comment

Top Ad Articles

Middle Ad Article 1

Middle Ad Article 2

Advertise Articles